Social Activist

Mahender Kumar

  • Gender: Male
  • Born on: December 07

Album Photo

Information

  • Mahender Kumar
  • India
  • Delhi
  • West Delhi
  • Delhi
  • 110041
  • Show More..

Recent Activities (Total Activities: 0)

  • Mahender Kumar
    पहली बात: हनुमान जी जब संजीवनी बूटी का पर्वत लेकर लौटते है तो भगवान से कहते है:- ''प्रभु आपने मुझे संजीवनी बूटी लेने नहीं भेजा था, बल्कि मेरा भ्रम दूर करने के लिए भेजा था, और आज मेरा ये भ्रम टूट...
  • Mahender Kumar
    क्या हमारे ऋषि मुनि पागल थे?जो कौवों के लिए खीर बनाने को कहते थे?और कहते थे कि कौवों को खिलाएंगे तो हमारे पूर्वजों को मिल जाएगा?नहीं, हमारे ऋषि मुनि क्रांतिकारी विचारों के थे।यह है सही कारण।तुमने...
  • Mahender Kumar
    एक आदमी के घर भगवान और गुरु दोनो पहुंच गये।वह बाहर आया और चरणों में गिरने लगा।वह भगवान के चरणों में गिरा तो भगवान बोले- रुको रुको पहले गुरु के चरणों में जाओ।वह दौड़ कर गुरु के चरणों में गया।गुरु...
  • Mahender Kumar
    A famous person explained his story:As a small child , I was very selfish, always grabbing the best for myself.Slowly, everyone left me and I had no friends. I didn’t think it was my fault...
  • Mahender Kumar
    Nowadays, the traditional measure of success — owning an apartment and/or a car — is out of date. An increasing number of young people around the world don’t want to buy...
  • Mahender Kumar
    एक ऐसा चुटकला जो चुटकला नहीं है , ज्ञान है ।---------------------------- एक पर्यटक, ऐसे शहर मे आया जो शहर उधारी में डूबा हुआ था ! पर्यटक ने Rs 500 का नोट होटल और रेस्टोरेंट के काउंटर पर रखे और...
    • Shashi kant
  • Mahender Kumar
    चील बड़े ऊंचे वृक्षों पर अपने अंडे देती है , फिर अंडों से बच्चे आते हैं। वृक्ष बड़े ऊंचे होते हैं। बच्चे अपने नीड़ के किनारे पर बैठकर नीचे की तरफ देखते हैं, और डरते हैं, और कांपते हैं। पंख उनके...
  • Mahender Kumar
    चूहा अगर पत्थर का हो तो सब उसे पूजते हैं मगर जिन्दा हो तो मारे बिना चैन नहीं लेते हैं साँप अगर पत्थर का हो तो सब उसे पूजते हैं मगर जिन्दा हो तो उसी वक़्त मार देते हैं माँ बाप अगर "तस्वीरों" में हो...
  • Mahender Kumar
    बढ़ती उम्र जब उम्र बढ़ जाएगीइत्र की जगह आयोडेक्स की खुशबू आएगीकहता हूँ अब भी मिल लोये घड़ियाँ पलटकर नहीं आएंगीअभी तो आँखो मे नूर बाकी हैफिर खूबसूरती नज़र नहीं आएगीअभी तो यार होंगे अपने साथ फिर...
  • Mahender Kumar
    हम वो आखरी पीढ़ी हैं जिन्होंने -कई कई बार मिटटी के घरों में बैठ कर परियों और राजाओं की कहानियां सुनीहम वो आखरी लोग हैं जिन्होंने -जमीन पर बैठ कर खाना खाया है, प्लेट में चाय पी है।हम वो आखरी लोग हैं...
  • Mahender Kumar
    सोनासोना एक गर्म धातु है। सोने से बने पात्र में भोजन बनाने और करने से शरीर के आन्तरिक और बाहरी दोनों हिस्से कठोर, बलवान, ताकतवर और मजबूत बनते है और साथ साथ सोना आँखों की रौशनी बढ़ता है। चाँदीचाँदी...
  • Mahender Kumar
    पानी में गुड डालिए, बीत जाए जब रात!सुबह छानकर पीजिए, अच्छे हों हालात!! धनिया की पत्ती मसल, बूंद नैन में डार!दुखती अँखियां ठीक हों, पल लागे दो-चार!! ऊर्जा मिलती है बहुत, पिएं गुनगुना नीर!कब्ज...